Thursday, July 9, 2020

न्यूज़ अलर्ट
1) जियो ने लॉन्च किया वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप 'जियो मीट '.... 2) बीएमसी की लापरवाही से जा रही स्वास्थ्यकर्मियों की जान.... 3) मुंबई में सेवानिवृत्ति समारोह संपन्न.... 4) चीन ने की बड़ी हिमाकत , भारत दे रहा उसका जवाब.... 5) अपर्याप्त संख्याबल के कारण सहार पुलिस स्टेशन में लगभग 1870 प्रवासी मजदूरों के आवेदन पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं- विधायक पराग अलवनी.... 6) गृह मंत्रालय ने दी बड़ी छूट, घर जा सकेंगे प्रवासी मजदूर.... 7) ग्रह मंत्रालय ने दी बड़ी छूट, घर जा सकेंगे प्रवासी मजदूर....
Vodafone भारत से अपना बिजनेस बंद करने की तैयारी में: रिपोर्ट
Friday, November 1, 2019 12:07:30 AM - By न्यूज डेस्क

प्रतीकात्मक चित्र
भारत की बड़ी टेलीकॉम कंपनियों में से एक Vodafone भारत में अपना बिजनेस बंद कर सकती है. ये रिपोर्ट न्यूय एजेंसी IANS की तरफ से है. इस रिपोर्ट के मुताबिक वोडाफोन वोडाफोन घाटे में चल रही है. हालांकि कंपनी ने अब तक इस खबर को लेकर कोई भी स्टेटमेंट जारी नहीं किया है.

गौरतलब है कि रिलायंस जियो के आने के बाद भारतीय टेलीकॉम कंपनी आईडिया और वोडाफोन का मर्जर हो गया है और अब यो दोनों कंपनियां मिल कर काम करती हैं. IANS की रिपोर्ट के मुताबिक वोडाफोन वोडाफोन अपनी पैकिंग कर चुका है और किसी भी समय यहां से जा सकता है. यह ऑपरेशनल लॉस और मार्केट कैपिटलाइजेशन में गिरावट की वजह से हो रहा है. कंपनी इसी वजह से लगातार घाटे में जा रही है.

इस रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि पिछले कुछ समय में वोडाफोन के लाखों कस्टमर्स घटे हैं. ताजा फिनांशियल क्वॉर्टर में कंपनी को नुकसान हुआ है. स्टॉक मार्केट वैल्यू भी लगातार कम हो रहे हैं. जून 2019 में कंपनी ने 4,067 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है जो इसी समय 2018 से लगभग दो गुना ज्यादा है.

कुछ दिन पहल एक रिपोर्ट आई थी कि वोडाफोन आईडिया बकाया राशी जमा करने के लिए किसी लेंडर का सहारा लेने की तैयारी कर रही है. हालांकि बाद में वोडाफोन ने इस रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा कि ऐसा नहीं है और कंपनी तय समय से बकाया चुका रही है.

सुप्रीम कोर्ट ने AGR जजमेंट के तहत वोडाफोन-आईडिया को 28,309 करोड़ रुपये का भुगतान करने को कहा है. रिपोर्ट के मुताबिक अगर संभव हुआ तो कंपनी इस कोर्ट ऑर्डर के रिव्यू के लिए आवेदन कर सकती है. IANS की एक रिपोर्ट में कोटक इंस्टिच्यूशनल इक्विटीज ने कहा है, ’28,500 करोड़ रुपये के आउटस्टैंडिंग लाइब्लिलिटीज में कंपनी को अगर राहत नहीं मिलती है तो जाहिर है वोडाफोन आईडिया के लिए मुश्किल होगी.