Monday, October 26, 2020

न्यूज़ अलर्ट
1) एलजेपी नेता व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन.... 2) पैसे देकर टीआरपी खरीदने का काम कर रहा था रिपब्लिक टीवी, दो गिरफ्तार.... 3) आज इतिहास रच सकते हैं विराट कोहली, बन जाएंगे सबसे बड़े T-20 बल्लेबाज!.... 4) कुवैत लेकर आ रहा नया कानून, आठ लाख से ज्यादा भारतीयों के वीजा पर संकट.... 5) 15 अक्तूबर से क्रमबद्ध तरीके से खुलेंगे स्कूल, शुरूआती दौर में नहीं होगा छात्रों का मूल्यांकन.... 6) दिन-ब-दिन गिरती जा रही संजय दत्त की सेहत, कैंसर के इलाज के बीच सामने आई नई फोटोज.... 7) हाथरस मामले को सुलगाने के लिए बनी वेबसाइट! अब FIR दर्ज....
सोना हुआ इतना सस्ता, जानें क्या है नया भाव, जल्दी खरीदें नहीं तो दिवाली तक…
Sunday, September 27, 2020 12:26:30 AM - By बिजनेस डेस्क

सांकेतिक चित्र
यदि आप सोना खरीदने का मन बना रहे हैं तो यह खबर आपके लिए खास है. जी हां…आपके पास मौका ही मौका है….क्योंकि, सोना रिकॉर्ड ऊंचाई से करीब 6500 रुपए सस्ता हो चुका है. आने वाले दिनों में कीमतें अभी और नीचे खिसक सकतीं हैं. जानकारों की मानें तो छोटी अवधि में कीमतों पर दवाब जारी रहने के आसार हैं. दरअसल, डॉलर इंडेक्स में तेजी और कोरोना वायरस की वैक्सीन आने की उम्मीद ने सोने के भाव पर दबाव बनाने का काम किया था. यही नहीं ग्लोबल मार्केट में घटती डिमांड के कारण भी कीमतों को झटका लगा है.

जानकारों का कहना है कि सोने की कीमत में लगातार गिरावट के कारण महीनों के बाद एक बार फिर से भाव 50 हजार रुपए के नीचे पहुंचा है. इधर हाजिर मांग कमजोर पड़ने के कारण कारोबारियों ने अपने जमा सौदे को कम किया जिससे वायदा बाजार में सोना शुक्रवार को 0.2 प्रतिशत की गिरावट के साथ 49,806 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया. एमसीएक्स में अक्टूबर महीने में डिलिवरी वाले सोना अनुबंध की कीमत 98 रुपये यानी 0.2 प्रतिशत की गिरावट के साथ 49,806 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया. इसमें 4,219 लॉट के लिये कारोबार हुआ. न्यूयार्क में सोने का भाव 0.09 प्रतिशत गिरकर 1,875.30 डॉलर प्रति औंस रह गया.

जानकारों ने कहा है कि अब अगले एक महीने तक सोने की कीमतों में दबाव रहने की उम्मीद है और यह फिसलकर 47000 के आसपास तक पहुंच सकती हैं. हालांकि, यह कमजोरी थोड़े वक्त के लिए ही नजर आएगी. तीन महीने का आउटलुक देखें तो सोना वापस अपने रिकॉर्ड हाई के आसपास नजर आ सकता है.

जानें क्यों चढ़ रही थी कीमत : बाजार के जानकारों की मानें तो, आठ अगस्त के भाव की तुलना में सोने और चांदी के भाव में डेढ़ महीने के भीतर भारी गिरवाट देखने को मिली है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने के भाव में तेजी के कारण घरेलू बाजार में भी कीमतें बढ रहीं थीं. ग्लोबल मार्केट में कीमत बढ़ने की सबसे बडी वजह चीन-अमेरिका के बीच व्यापार युद्ध है…साथ ही दुनिया भर में आर्थिक मोर्चे से आई नकारात्मक खबरें भी इसका कारण हैं, लेकिन अब स्थिति में पहले की तुलना में थोड़ा सुधार दिखा. हालांकि, डॉलर की कीमत में मजबूती के कारण सोने के भाव में उतार-चढ़ाव देखने को मिलने के आसार हैं.

कहां तक जा सकती है कीमतें : जानकारों का मानना है कि, सोने में कमजोरी थोड़े वक्त के लिए ही है. दिवाली के आसपास एक बार फिर सोने के भाव में तेजी दिखने की उम्मीद है. डिमांड में सुधार आने के साथ ही सोना फिर से 52000 रुपए के स्तर को छू सकता है. यही नहीं दिसंबर के अंत तक सोना 56000 के स्तर वापस छू सकता है. हालांकि, वर्तमान में बाजार पर नजर डालें तो सोने की कीमतें 47000-48000 रुपए के आसपास आ सकती हैं.